Sunday, 18 October 2015

दो लाइन शेर-ओ-शायरी

दिल काँच का बनाया होता..

बनाने वाले ने दिल काँच का बनाया होता .
तोड़ने वाले के हाथ मे जखम तो आया होता .
जब बी देखता वो अपने हाथों को ,
उसे हमारा ख़याल तो आया होता!...

Sunday, 11 October 2015

दो लाइन दर्द शायरी

आए ज़िंदगी में….

तुम आए ज़िंदगी मे कहानी बन कर,
तुम आए ज़िंदगी मे रात की चाँदनी बन कर,
बसा लेते है जिन्हे हम आँखो मे,
वो अक्सर निकल जाते है आँखो से पानी बन कर…