Tuesday, 27 January 2015

शराबी की शायरी हिंदी मे

शराबी  शायरी


रात गुमसूँ है मगर चेन खामोश नही,
कैसे कहदू आज फिर होश नही,
ऐसा डूबा तेरी आखो की गहराई मैं,
हाथ में जाम है मगर पीने का होश नही.

Thursday, 15 January 2015

रिश्ते पर कविता

हर रिश्ते में विश्वास रहने दो;
जुबान पर हर वक़्त मिठास रहने दो;
यही तो अंदाज़ है जिंदगी जीने का;
न खुद रहो उदास, न दूसरों को रहने दो..!

Saturday, 10 January 2015

Hindi Republic Day SMS 2015


गाँधी स्वप्ना जब सत्य बना ,
देश तभी जब गणतन्त्र बना ,
आज फिर से याद करे वोह मेहनत ,
जो थी की वीरो ने ,और भारत गणतंत्र बना ।
गणतंत्र दिवस की शुभ कामनाएँ ।

तैरना है तो समन्दर में तैरो ,
नदी नालों में क्या रखा है ,
प्यार करना है तो वतन से करो .......
इन बेवफा लड़कियों में क्या रखा है ।
जय हिंद ।
गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनायें ।

ये बात हवाओ को बताये रखना ,
रोशनी होगी चिरागों को जलाये रखना ,
लहू दे कर जिस की हिफाजत हमने की ,
ऐसे तिरंगे को सदा दिल में बसाये रखना ।
गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनायें ।

देश भक्तों के बलिदान से,
स्वतन्त्र हुए है हम .........
कोई पूछे कोंन हो  तो गर्व से
कहेंगे भारतीय है हम ..............
गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनायें ।

आओ झुक कर सलाम करे उनको ,
जिनके हिस्से में ये मुकाम आता है ,
खुश नशीब होता है वो खून,
जो देश के काम आता है ।
गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनायें ।

More Hindi Republic Day SMS @ http://hindisms.org

Sunday, 4 January 2015

लव शायरी हिन्दी मे



कभी हाँसता है प्यार,
कभी रुलाता है प्यार,
हर पल की याद दिलाता है यह प्यार,
चाहो या ना चाहो,
पर आपके होने का एहसास दिलाता है यह प्यार…
हैप्पी वेलेंटाइन डे ।

आपके आने से ज़िंदगी कितनी खूबसूरत है,
दिल मे बसी है जो वो आपकी ही सूरत है,
दूर जाना नही हमसे कभी भूलकर भी,
हमे हर कदम पर आपकी ज़रूरत है.
हैप्पी वेलेंटाइन डे ।

चेहरे पर बनावट का गुस्सा,
आँखों से छलकता प्यार भी है,
इस शौक़-ए-अदा को क्या कहें
इनकार भी है इक़रार भी है..
आज इक़रार कर ही दो..डियर..
हैप्पी वेलेंटाइन डे ।

Friday, 2 January 2015

Main talashti hu apne pyaar ko !!!!!!!!

Main talashti hu apne yaar ko
Kahi to hoga, koi to hoga
Jo pukarta hoga mere naam ko...

In waadiyo se puchti hu...
Uske ghar ka pataa...
Koi to hai is jahaan me...


Jo mujhe bhi dhoondhta hoga apni yaadon me.
Main talashti hu apne pyaar ko
Main talashti hu apne yaar ko

Koi to hai jo karta hoga mera intezaar
Koi to hai jo hoga bekaraar
Koi to hai jo samajhta hoga yeh khaamoshiya

Jiska dil bhi dhadakta hoga mere dil ke saath
Main talashti hu apne pyaar ko
Main talashti hu apne yaar ko


Wo manzil bhi mujhe pukaarti hogi
Wo raaste bhi muje dekhte honge
Koi to hai, jinki baahon ko
Hoga sirf mera intezaar

Main talashti hu apne pyaar ko
Main talashti hu apne yaar ko