Tuesday, 4 February 2014

हुस्न शायरी

 हुस्न शायरी

नज़रें झुकी तो पैमाने बने;
दिल टूटे तो मैख़ाने बने;
कुछ तो जरुर ख़ास है आप में;
हम यूँ ही नहीं आपके दीवाने बने।

No comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.