Saturday, 10 August 2013

गम भरी शायरी





अर्ज अब भी है खुदा से ऐ बेवफा,
मेरे दामन की दुआ तुझको मिल जाए,
करना हो ख़ाक तेरा आशियाँ जिसको,
वो बिजली मेरे नशेमन पे गिर जाए.. ...

No comments:

Post a Comment

Note: only a member of this blog may post a comment.